top of page
  • Writer's picturevision5design

साठ वर्ष! 

Updated: Feb 29, 2020

आपको जानकर आश्चर्य होगा कि एटा के रेलवे स्टेशन को बने साठ साल हो गये हैं, और यहां से आज तक कोई एक्सप्रेस ट्रेन नहीं गुज़री।

विकिपीडिया के अनुसार 1959 में यह बनकर तैयार हो गया था, और पहली रेलगाडी टुण्डला- एटा पैसेंजर का उदघाटन भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद जी ने किया था।

वो दिन है और आज का दिन है, इस एकान्तीय स्टेशन की स्थिति में ज्यादा अन्तर नहीं आया है।

एटा अभी भी ब्रान्च लाइन बरहन- एटा- बरहन से काम चला रहा है।

2017-2018 के बजट में 276.9 करोड रूपये एटा और कासगंज के बीच नयी लाइन के लिए सेंक्शन हुये थे। जिसकी लम्बाई मात्र 29 किलोमीटर है। लोगों का कहना है 2 वर्षो बाद भी काम गति नहीं पकड़ पाया है।

हाँ पर, आगरा फोर्ट से एटा के बीच एक स्पेशल पैसेंजर ट्रेन का भी प्लान था, जो चालू हो गयी है। इस रूट में 5 हाल्ट पडते हैं। (आगरा फोर्ट- कुबेरपुर, बरहन, तेहु शिवाला, शाहानगर, जलेसर सिटी- एटा) 92 किलोमीटर की दूरी 2 घण्टे 25 मिनट में तय करती है।

65 views0 comments
Post: Blog2_Post
bottom of page